वृक्षारोपण के लिए सहायता | Help For Tree Plantation |

वृक्षारोपण के लिए सहायता | Help For Tree Plantation |

 

जिस स्थान पर स्वच्छ हवा और प्रदुषण से मुक्त वातावरण होता है वो स्थान ही पृथ्वी पर स्वर्ग के सामान होता है | अगर आप किसी ऐसे स्थान को देखना चाहते है तो आपको ऐसे स्थान पर जाना होगा जहाँ पर लाखों की संख्या में हरे – भरे पेड़ पौधे हो |तो आप देखेंगे कि आपको उस स्थान पर एक अजीव से शांति मिलेगी, जिसे छोड़कर जाने का आपका मन नहीं करेगा | ऐसा इसलिए होगा, क्योंकि आप जिस स्थान पर रहते है उस स्थान पर इतना ज्यादा प्रदुषण हवा है मिल चूका है की आपके शरीर को स्वच्छ हवा नहीं मिल पा रही है | आज मानव ने अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए जिस गति से पेड़ – पौधों को कटा है उससे पर्यावरण मानव के रहने लायक नहीं रह गया है |

आज आपको हवा में कई ऐसी खतरनाक गैसे मिल जाएँगी जो हमारे शरीर हो हानि पहुंचाती है जिससे हमें फेफड़ो सम्बन्धी अनेक बीमारी हो जाती है और इसी की बजह से समय से पहले ही लोग बूड़े हो रहे है | इस प्रकार की सभी खरनाक गसों का शोषण पेड़ – पौधे करते है | जिस स्थान पर पेड़ – पौधों की संख्या कम होगी उस स्थान पर रहने वाले लोगों में आपको उनके शरीर का संतुलन ठीक नहीं मिलेगा | किसी को सांस की बीमारी होगी तो किसी का मोटापा बढ़ा होगा और किसी को थोड़ा चलने फिरने में थकान महसूस होती होगी | ये सब कोई बीमारी नहीं है | अगर आप चाहे तो डॉक्टर के पास जानकर इन सब को ठीक कराने में अपना लाखों रूपए बर्बाद कर सकते है | लेकिन फिर भी ये बीमारियाँ ठीक नहीं होंगी | क्योंकि हकीकत में ये बीमारी आपको स्वच्छ वातावरण न मिलाने की बजह से होता है और इन सब का एक ही कारण है कि हम जिस स्थान पर रहते है वहां पेड़ – पौधों की बहुत कमी है, जिस कारन हमारे आप – पास होने वाले प्रदुषण का शोषण पेड़ों द्वारा नहीं हो पता है और हमें अपने शरीर के लिए स्वच्छ हवा नहीं मिल पाती है जिस बजह से हमारे शरीर के सभी उतक या अंग अपना काम सही से नहीं कर पाते है | जिस बजह से हमारे शरीर के कुछ पदार्थ हमेशा के लिए शरीर में ही जमा होते रहते है |

पेड़ केबल इंसान के लिए ही नहीं बल्कि अन्य कई चीजों के लिए भी जिम्मेदार होते है, जैसे पक्षियों के लिए उनके घोसले यानी रहने के लिए घर बनाने के लिए भी काम आते है | पेड़ ही कार्बन डाई ओक्ससाइड गैस का शोषण करते है और उसके बदले में स्वच्छ ऑक्सीजन गैस छोड़ते है जो सभी जीवो के लिए एक वरदान है | इसके अलावा पेड़ में फल – फूल, लड़की आदि भी देते है जो हमारे रोज मर्या की जिंदगी में काम आते है |

 

We’re proud of the thousands of trees we have been responsible for planning through donations to Trees for the Future . Here’s a look at why we think that trees are important at Clean Air Gardening, and why we’ll continue planting more of them.

Planting trees in your neighborhood really is one of the best things you can do for the local environment and for the planet. It’s no secret that trees help the environment, but you may be surprised by all the benefits that planting trees can provide. Besides producing oxygen and removing carbon dioxide and contaminants from the air, trees have many other social, economic, and environmental benefits.
Trees are like the lungs of the planet. They breathe in carbon dioxide and breathe out oxygen. Additionally, they provide habitat for birds and other wildlife. But that’s not all trees do for us! To see just how much trees are essential to the planet and to humans, let’s look at the following statistics:

Related Articles

51 COMMENTS

  1. मै आपके संस्था से जुड़ना चाहता हूँ, इसका नियम मुझे बताये, मैंने एक वीडियो देखा जिससे कुछ जानकारी हुआ, बाकि आप बतावे, मेंबर बनने के लिए प्रत्येक महीना चार्ज देना होता है की एक बार, धन्यवाद

  2. मै आपके संस्थान से जुडना चाहता हु इसका नियम मुझे बताये मैने एक विडीयो देखा जिससे कुछ जानकारी हुई बाकी आप बताये

  3. जो भाई-बहन हमारी संस्था से जुड़ना चाहते हैं,
    9589561340 पर hello लिखकर what’s app करें।

    • जो भाई-बहन हमारी संस्था से जुड़ना चाहते हैं,
      9589561340 पर hello लिखकर वाट्स एप करें।

  4. जो भाई-बहन हमारी संस्था से जुड़ना चाहते हैं,
    9589561340 पर hello लिखकर वाट्स एप करें।

  5. सभी को अपने आस पास वृक्षा रोपड़ करना चाहये ।ताकि आपके आस पासका वातावरण।स्वस्च्छ और अनुकूल बना रहे।।.६म सभी को संकल्प लेना चाहिये
    .पेड़ो की सु२क्षा करे ।और ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण ।करे।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,393FansLike
548FollowersFollow
4,500,000SubscribersSubscribe

Latest Articles